spot_img
spot_img

श्रावणी मेला में बाबानगरी को जाम मुक्त रखने की कवायद, कई अहम बदलाव


देवघर।

श्रावणी मेला के दौरान बाबानगरी में सबसे बड़ी समस्या ट्रैफिक की होती है. इस बार ट्रैफिक की समस्या से निजात पाने के लिए जिला प्रशासन लगातार तैयारी कर रहा है. इसी कड़ी में एसडीएम विशाल सागर ने विधि व्यवस्था और यातायात व्यवस्था के संधारण के लिए बस ऑनर्स एसोसिएशन, ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन, टेम्पू ऑनर्स एसोसिएशन और यातयात संबंधित अधिकारी के साथ बैठक की.

बैठक में देवघर व जसीडीह में यातायात से जुड़ी समस्या व उसके निबटारे पर चर्चा हुई. सभी एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने मेला में यातायात संधारण को लेकर सपोर्ट करने की बात कही.

बस पड़ाव पर ही बस का होगा ठहराव:

बैठक में निर्णय लिया गया कि श्रावण के दौरान बाहर से आने वाले बसों को बस पड़ाव जहां बनेंगे वहीं पर ही ठहराया जायेगा, ताकि शहर के अंदर जाम न बनें. बैठक में उपस्थित ट्रैफिक डी0एस0पी0 अजय कुमार सिन्हा ने बताया कि गिरीडीह, चकाई, बांका एवं सुल्तानगंज की ओर से आने वाली वाहनों के लिए कोठिया में बस पड़ाव निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार सारठ, सारवां की ओर से आने वाली वाहनों के लिए हथगढ़ एवं गोड्डा, भागलपुर, दुमका की ओर से आने वाली वाहनों के लिए चरकी पहाड़ी को वाहन पड़ाव स्थल रूप में चिन्ह्ति किया गया है। वहीं, बस एसोसिएशन के प्रतिनिधियों द्वारा जिला प्रशासन से मांग की गयी है कि बिना अनुज्ञप्ति धारक बसें बस स्टैंड तक नहीं आए। कहा कि अस्थायी अनुज्ञप्तिधारी जो सामान्यतः 56 दिनों के लिए जारी किये जाते हैं, को हीं आने की अनुमति दें। 

देवघर से जसीडीह तक ऑटो भाड़ा 12 से बढ़ाकर 15 रूपये:

एसडीएम ने बताया बैठक में ऑटो और मैक्सि चलाने वालों के लिए किराए का दर निर्धारित कर दिये  गए हैं, ताकि बाबानगरी आने वाले श्रद्धालुओं से कहीं ज्यादा तो कहीं कम पैसे न लिया जाये और एक अच्छा मैसेज लेकर श्रद्धालु यहां से वापस लौटें. सभी ऑटो पर रेट पब्लिश होगा.  ऑटो चालक एसोसिएशन के प्रतिनिधि की ओर से जसीडीह से देवघर के बीच के ऑटो भाड़ा को 12 रूपये से बढ़ाकर 15 रूपये करने का प्रस्ताव दिया गया, जिसे स्वीकृति प्रदान कर दी गयी। अनुमंडल पदाधिकारी ने कहा कि जो निर्धारित दर से अधिक किराया वसूल करेंगें उनसे प्रशासन सख्ती से निपटेगी।

बिना परमिट वाली गाड़ियों को परिचालन का आदेश नहीं:

जिस वाहन का परमिट होगा और जिस रूट के लिए होगा उसी गाड़ियों को परिचालन का आदेश मिलेगा. बिना परमिट वाली बाहर की गाड़ियों पर इस बार प्रशासन पुरी तरह से लगाम लगायेगी. और यातायात नियमों उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई होगी. 

सड़कों के किनारे अवांछित पोल हटाने की मांग:

एसोसिएशन की ओर से मांग की गयी कि सड़कों के किनारे अवांछित पोल के कारण दुर्घटनाएं होते रहती है। इसलिए ऐसे पोलों को सड़कों के किनारे हटाए जाएं। साथ हीं सड़कों पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था रहें।

छोटी गाड़ियों से पैसेंजर की ढुलाई बासुकीनाथ तक न करें:

नियम का हवाला देते हुए बैठक में सर्वसम्मति से इस बात को स्वीकार किया गया कि ऑटो रिक्शा या इस प्रकार की छोटी गाड़ियों पैसेंजर की ढुलाई बासुकीनाथ तक न करें। यह नियम के विरूद्ध है। क्योंकि ऐसे वाहनों को अधिकतम 15 किलो मीटर तक हीं सवारी के साथ आने-जाने की अनुमति होती है। 

मंदिर मोड़ के आगे कुछ पल के लिए ठहराव की मांग:

इसके अलावे एसोसिएशन की ओर से बस स्टैंड से दुमका-गोड्डा की ओर जाने वाले वाहनों के लिए मंदिर मोड़ के आगे कुछ पल के लिए ठहराव देने की अनुमति मांगी गयी। इस विषय पर अुनमंडल पदाधिकारी विशाल सागर ने कहा कि विमर्शोपरांत इस पर उचित व आवश्यक निर्णय लिए जाएंगे।

एसडीएम ने कहा कि ट्रैफिक व्यवस्था के संचालन हेतु पर्याप्त संख्या में पुलिस बल एवं दण्डाधिकारी जगह-जगह तैनात रहेंगें। कहीं किसी प्रकार की समस्या नहीं आयेंगी। उन्होंने नगर वासियों से अपील की कि ट्रैफिक संचालन में जिला प्रशासन की मदद करें। 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!