spot_img
spot_img

काश! लोगों ने बढ़ाये होते हाथ तो ज़िंदा होता विष्णु

निधि राजदान ने NDTV छोड़ा

Reported by:मनीष दुबे  [Edited by:शबिस्ता आज़ाद ]

देवघर।

देवघर जिले के मोहनपुर थाना क्षेत्र के लोरीवरण गांव में एक किसान ने सिर्फ इसलिए अपनी इहलीला समाप्त कर दी क्योंकि उसकी मदद किसी ने नहीं की.

हुआ यह कि विष्णु यादव नाम का एक किसान अपने खेत की जुताई कर रहा था. विष्णु यादव को काम के दौरान शारीरीक रूप से थोड़ी कमजोरी लग रही थी. वह इतना वीक फील कर रहा था कि खेत जोत रहे बैल विष्णु को ही बार-बार अपनी ओर खींच ले रहे थे. तभी उसने अपने आसपास के खेतों में काम कर रहे लोगों से मदद मांगी. बार-बार बोलने पर भी लोगों ने इंकार किया. थका-हारा विष्णु घर लौट आया और फरस्टेड होकर घर में रखे किटनाशक का सेवन कर लिया. जिसके बाद उसकी तबियत बिगड़ी. आनन-फानन में परिजन उसे सदर अस्पताल लेकर आयें जहां उसने दम तोड़ दिया. विष्णु की मौत के बाद उसके परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. 

हालांकि, विष्णु यादव की मौत ने समाज के उस हिस्से पर सवाल खड़े ज़रूर किये हैं, जो हिस्सा दूसरों की मदद से कतराता है, जो हिस्सा दूसरों की मजबूरी को नजर अंदाज कर जाता है. आज अगर विष्णु की मदद किसी एक ने भी कर दी होती तो शायद कल विष्णु अपने खेत में फसल लगाने की तैयारी कर रहा होता। 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!