Global Statistics

All countries
176,417,357
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
158,669,108
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
3,810,763
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am

Global Statistics

All countries
176,417,357
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
158,669,108
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
3,810,763
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
spot_imgspot_img

लोकसभा चुनाव में एप्प ‘सी-विजिल’ के जरिये रहेगी प्रत्याशियों पर नजर


देवघर।

सूचना भवन सभागार में आगामी लोकसभा आम चुनाव, 2019 के मद्देनजर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में वरीय पदाधिकारी-सह-प्रशिक्षु आई0एस0 हेमन्त सत्ती, सूचना विज्ञान पदाधिकारी-सह-नोडल पदाधिकारी ए0बी0 राॅय व प्रशिक्षक सत्यम कुमार, सभी पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस निरीक्षक व सभी थाना प्रभारी आदि उपस्थित थे।

प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान वरीय पदाधिकारी श्री हेमन्त सत्ती द्वारा जानकारी दी गयी कि स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने मोबाइल एप्प सी-विजिल लांच किया है। इस एप्प के जरिए आमजन आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की रिपोर्ट कर सकेंगे। यह एप्प निर्वाचन की घोषणा की तिथि से प्रभावी होगी और मतदान के एक दिन बाद तक बनी रहेगी। लोकसभा आम चुनाव 2019 में पहली बार इस एप्प का प्रयोग किया जाएगा। इससे पूर्व परीक्षण के तौर पर कर्नाटक विधानसभा चुनाव में इस एप्प का प्रयोग सफलतापूर्वक किया गया था।

app

प्रोजेक्टर के माध्यम से जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी ए0बी0 राॅय  ने एप्प से जुड़ी विस्तृत जानकारी सभी को दी। उन्होंने बताया कि कोई भी व्यक्ति इस ऐप के जरिए कहीं भी आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दे सकेगा। सी विजिल एप चुनावी गड़बड़ियों पर तत्काल लगाम लगाने में सहायक होगा। यह एप सिर्फ चुनाव की घोषणा वाले स्थानों पर ही काम करेगा। एप का बीटा वर्जन लोगों व चुनाव कर्मियों के लिए उपलब्ध होगा, जिससे वे इसके बारे में जानकारी जुटा सकेंगे।

इस एप के आने से नागरिकों को चुनाव के संबंध में शिकायत दर्ज कराने के लिए पीठासीन अधिकारी के कार्यालय की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

सी विजिल एप के लिए कैमरा, इंटरनेट कनेक्शन और जीपीएस वाला एन्ड्रायड स्मार्ट फोन जरूरी होगा। शिकायत के लिए जागरूक नागरिक को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की एक तस्वीर या अधिक से अधिक दो मिनट का वीडियो रिकॉर्ड कर इस एप पर भेजना है। इसमें शिकायतकर्ता की पहचान गुप्त रखी जाएगी। सबूत आधारित शिकायत का निस्तारण अधिकतम 100 मिनट में किया जा सकेगा।

जीपीएस की मदद से शिकायत वाले स्थान की पहचान की जा सकेगी। इसके लिए शिकायतकर्ता को एक यूनिक आईडी मिलेगी, जिससे वह आगे की कार्रवाई जान सकेगा। शिकायत दर्ज होने के बाद सूचना जिला नियंत्रण कक्ष के पास जाएगी। फिर इसे फील्ड इकाई को दिया जाएगा। इस एप पर केवल आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की ही शिकायत की जा सकेगी। फोटो और वीडियो बनाने के बाद यूजर्स को सिर्फ पांच मिनट का समय मिलेगा। पहले से ली गई फोटो व वीडियो अपलोड करने की अनुमति नहीं है।

चुनाव प्रचार के दौरान व मतदान के दिन आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के कई मामले सामने आते हैं और कई स्थानों से विवाद की बातें भी सामने आती हैं पर शिकायतें सही स्थान तक नहीं पहुंच पाती और उल्लंघन मामलों पर सही कारवाई नहीं हो पाती। सी-विजिल एप्प लोगों के लिए एक ऐसा माध्यम होगा, जिससे आम लोग आसानी से किसी भी प्रत्याशी के आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के प्रमाण सीधे आयोग को भेज पाएंगे। इस मामले की तुरंत सत्यता की जांच भी हो सकेगी और मामले में क्या कारवाई की जा रही है अथवा क्या कार्रवाई की गई, इसकी पूरी जानकारी भी शिकायतकर्ता को प्राप्त हो सकेगी।          

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles