Global Statistics

All countries
264,564,819
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
236,825,800
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
5,252,525
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm

Global Statistics

All countries
264,564,819
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
236,825,800
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
5,252,525
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
spot_imgspot_img

देवघर:अल्ट्रामेगा पावर प्लांट प्रोजेक्ट को लेकर बैठक,स्थापना का काम जल्द शुरू होने पर चर्चा 


देवघर।

देवघर उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में मोहनपुर प्रखण्ड अंतर्गत प्रस्तावित अल्ट्रामेगा पावर प्रोजेक्ट हेतु पावर फाईनेंस काॅर्पोरेशन के डायरेक्टर योगेश जुनेजा व जीएम पीसी हेम्ब्रम के नेतृत्व में आई टीम अल्ट्रामेगा पावर प्रोजेक्ट की टीम के साथ समाहरणालय में बैठक आयोजित की गयी।

बैैठक में अल्ट्रामेगा पावर प्लांट की स्थापना का काम जल्द से जल्द शुरू होने की बात कही गयी। लगभग 35 हजार करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले इस अल्ट्रामेगा पावर प्लांट से चार हजार मेगावाट बिजली उत्पादन की जाएगी। लगभग 2200 एकड़ जमीन की जरूरत पावर प्रोजेक्ट परियोजना को पूरा करने में है।

मीटिंग

इस दौरान उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा द्वारा जानकारी दी गयी कि अल्ट्रामेगा पावर प्रोजेक्ट के लिए कुल 1980 एकड़ जमीन चिन्हित की जा चुकी है। कुल 14 मौजा में चिन्हित 1980 एकड़ जमीन में सरकारी व वन विभाग की जमीन है। 1980 एकड़ जमीन के बाद शेष रैयती जमीन की प्रक्रिया हेतु जिला प्रशासन द्वारा कार्य किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट में काफी कम संख्या में रैयती जमीन अधिग्रहण करने की जरूरत पड़ेगी। ऐसे में जल्द हीं इस प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा।  

बैठक में जमीन की उपलब्धता, परियोेजना हेतु गंगा नदी से पानी लाने के प्रस्ताव पर चर्चा के साथ परियोजना के लिए प्रतिवर्ष 180 से 200 लाख टन कोयले के जरूरत पर भी विस्तारपूर्वक चर्चा की गयी। इसके अलावा अन्य स्वीकृतियों और प्रशासनिक दृष्टिकोण से कई बिन्दूओं पर विस्तृत चर्चा की गयी।

इस दौरान उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने कुल 1980 एकड़ जमीन चिन्हित कर नक्शा व पूरी रिपोर्ट अधिकारियों के सामने प्रस्तुत कर उससे जुड़ी सारी जानकारी दी गयी। साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि 14 गांवों में पड़ने वाले रैयती जमीन का भी सर्वे नक्शा व खतियान के साथ किया गया है। भौतिक सत्यापन में सभी 14 गांवों में चिह्नित 80 एकड़ जमीन खाली पड़ी हुई है। शेष 20 फीसदी जमीन पर घर-मकान है। टीम ने घर व मकान छोड़कर केवल खाली पड़ी जमीन का सर्वे किया। इससे पहले टीम ने नक्शा व खतियान के अनुसार पावर प्रोजेक्ट की जमीन की रिपोर्ट तैयार की थी। 

बैठक में उपरोक्त के अलावे नीरज कुमार डायरेक्टर सीईए, आशीष पाण्डेय, असिस्टेंट प्रोफेसर आईआईटी रूड़की, उमेश सी चन्द्र, बजेश कुमार, कमल सेटटी, अजय एस बनोदे, अपर समाहत्र्ता श्री अंजनी कुमार, भूमि उप समाहत्र्ता श्री अनिल यादव, मोहनपुर अंचलाधिकारी श्रीमती प्रीतिलता किस्कू आदि उपस्थित थे। 

बैठक के पश्चात मोहनपुर प्रखण्ड के 14 गांवों मे चिन्हित अल्ट्रामेगा पावर प्रोजेक्ट जमीन का भ्रमण सभी दिल्ली से आये आलाधिकारियों द्वारा किया गया।

इस दौरान पावर फाईनेंस काॅर्पोरेशन के डायरेक्टर योगेश जुनेजा व जीएम पीसी हेम्ब्रम के नेतृत्व में आई टीम व अपर समाहत्र्ता अंजनी कुमार दूबे, भूमि उप समाहत्र्ता अनिल कुमार यादव व अंचलाधिकारी, मोहनपुर प्रीतिलता किस्कू आदि उपस्थित थे। 

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!