Global Statistics

All countries
356,736,958
Confirmed
Updated on Tuesday, 25 January 2022, 11:05:27 pm IST 11:05 pm
All countries
280,688,455
Recovered
Updated on Tuesday, 25 January 2022, 11:05:27 pm IST 11:05 pm
All countries
5,626,025
Deaths
Updated on Tuesday, 25 January 2022, 11:05:27 pm IST 11:05 pm

Global Statistics

All countries
356,736,958
Confirmed
Updated on Tuesday, 25 January 2022, 11:05:27 pm IST 11:05 pm
All countries
280,688,455
Recovered
Updated on Tuesday, 25 January 2022, 11:05:27 pm IST 11:05 pm
All countries
5,626,025
Deaths
Updated on Tuesday, 25 January 2022, 11:05:27 pm IST 11:05 pm
spot_imgspot_img

डीआईजी पहुंचे गिरिडीह, थाना का लिया जायज़ा 

Reported by:आशुतोष श्रीवास्तव 

गिरिडीह। 

उत्तरी छोटानागपुर प्रक्षेत्र के डीआईजी पंकज कंबोज एक दिवसीय दौरे पर गिरिडीह पहुंचे। यहाँ उन्होंने नगर और मुफ्फसिल थाना का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने एक एक संचिका को खंगालने का काम किया कि कितने मामलों का पर्यवेक्षण व अनुसंधान कितना शेष बचे हैं। निरीक्षण के दौरान डीआईजी ने संबधित थाना में कई खामियां पायी। उन्होंने दोनों थानेदारो को कार्य में प्रगति लाने सहित कई दिशा-निर्देश दिए। निरीक्षण के पश्चात वे पचंबा समेत यातायात थाना प्रभारी से मिल कर केस सम्बंधित कई दिशा निर्देश देते हुये कार्य में प्रगति लाने को कहा। 

बाद में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि यहाँ के पदाधिकारी मेहनती है उम्मीद करता हूँ कि आगे ये अपने कार्य में सुधार लाएंगे। उन्होंने कहा की पुलिस मुख्यालय का निर्देश है कि 3 वर्ष से अधिक के जो लंबित कांड हैं, उसका निष्पादन जल्द से जल्द हो। फरारी, भगौड़े अपराधी- नक्सली के बारे में उन्होंने कहा की ऐसे अपराधियों पर 174 (ड्ड) के तहत केस रजिस्टर करना है, क्योंकि जो भगौड़े अपराधी हैं उनके द्वारा माननीय न्यायालय के आदेश की अवहेलना की गई है। पुलिस द्वारा सीआरपीसी की धारा 82, 83 के कार्रवाई के बाद भी न्यायालय में सरेंडर नहीं किया है, ऐसे अपराधियों पर अलग से केस करने संबंधी निर्देश डीजीपी कार्यालय से निर्गत हुआ है। इसमें 3-7 साल तक का अलग से सजा का प्रावधान है।

लोकसभा चुनाव के संदर्भ में कहा कि बिहार पुलिस, केंद्रीय एजेंसी, सीआरपीएफ के साथ मिल कर संयुक्त रूप से  अभियान चलाएंगे। एक सप्ताह पहले ही बिहार में उच्च स्तरीय बैठक हुई है और उसमे रणनीति बनी है कि दोनों राज्य के पुलिस मिलकर काम करेगी। हर महीने पुलिस अधीक्षक और एसडीपीओ स्तर के अधिकारियो के साथ संयुक्त बैठक होगी। 

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!