spot_img

देवघर पहुंची ओमान के केन्द्रीय मंत्रिमंडल की पूर्व एडवाइजर संगीता श्रीधर


देवघर।

ओमान के केन्द्रीय मंत्रिमंडल के एडवाइजर पद पर 20 साल काम कर चुकी तमिलनाडु की संगीता श्रीधर देश भ्रमण के दौरान गुरुवार को देवघर पहुंची।

देवघर में संगीता ने स्वक्षता की ज़मीनी हकीकत को परखा। आदर्श ग्राम संकरी जाकर उन्होंने सफाई और हाइजीन का सर्वेक्षण किया। उन्होंने सोलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट का जायजा लिया. जहां किस तरह देवघर का से कचरा उठाया जाता है और किस तरह उसको रीसायकल किया जाता है यह सब जानकारी उन्होंने ली .गुरूकुल कोचिंग सेंटर पहुंची जहां शिक्षकों और बच्चों से बातचीत की. उन्होंने बच्चों को विमेन एंपावरमेंट, स्वच्छता और पढ़ाई से रिलेटेड चीजों की जानकारी दी.

संगीता

देश भ्रमण कर रहीं संगीता: 

स्वच्छ भारत मिशन के काम को देखने और इसकी रिपोर्ट तैयार करने को लेकर वह एडवाइजर का पद छोड़कर देश के विभिन्न राज्यों का भ्रमण कर रही है। पिछले पांच महीनों में 240 शहर और 203 देशों का बार्डर संगीता पार कर चुकी हैं। देश के 25 राज्यों का भ्रमण करने के बाद वह देवघर पहुंची। यहां उन्होंने यहां उन्होंने विभिन्न गांव और सोलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट का जायजा लिया. गुरूकुल कोचिंग इंस्चयूट पहुंची जहां लोगों से बातचीत की. इस दौरान विभिन्न स्थानों पर जाकर स्वच्छता का जमीनी हाल देखा। स्वच्छता के लिए क्या किया जा रहा है इसकी भी जानकारी ली। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का स्वच्छ भारत मिशन महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इस कार्य के लिए यात्रा के दौरान उन्हें आर्मी, बीएसएफ, दूतावास का सहयोग मिला है। खासकर बार्डर वाले और संवेदनशील इलाकों में कश्मीर, छत्तीसगढ़, भारत-चीन बार्डर आदि जगहों पर सेना और बीएसएफ का उन्हें सहयोग मिला।

गुरुकुल

खुद करती हैं ड्राइविंग :

संगीता ने बताया कि वह खुद अकेले चारपहिया वाहन चलाकर शहरों का भ्रमण कर रही हैं। वह जम्मू काश्मीर के उन इलाकों में गयी जहां के लोग घर से बाहर नहीं निकलते। कुल 310 शहरों का भ्रमण करना है। रोज 12 घंटे की यात्रा करती हैं। उनके पति श्रीधर आबुधाबी में रहते हैं। बेटा अमेरिका में इंजीनियर है। देश के लिए कुछ करने का जज्बा लेकर परिवार से दूर यह यात्रा कर रही हैं। यात्रा के दौरान स्वच्छता को लेकर पूरी रिपोर्ट तैयार कर रही है। 

वाहन में ही संगीता बिताती हैं रात:  

संगीता श्रीधर बताया कि टाटा कंपनी ने उन्हें वाहन उपलब्ध कराया है। वाहन में ही खाने-पीने और सोने की व्यवस्था है। होटल में नहीं रुककर गाड़ी में ही वह सोती हैं। कुल 40 लाख रुपये खर्च आये हैं जो उनकी खुद की कमाई के हैं। अब छह महीने की यात्रा बची है।

देश में सुधार की जरूरत: 

संगीता श्रीधर ने बताया कि स्वच्छता के मामले में देश में अभी और सुधार की जरूरत है। वह विश्व बैंक की रिसर्चेज भी हैं। स्वच्छ भारत मिशन को लेकर इंटरनेशनल एप्प भी बनाया है। संगीता ने कहा कि आज देश में गंदगी के कारण कई समस्याएं हैं। काफी बीमारियां होती हैं। ओडीएफ के बाद भी लोग खुले में शौच करते हैं।  उन्होंने झारखण्ड की सड़कों की तारीफ़ की. 

भ्रमण

हिन्दुस्तान में महिलायें सुरक्षित: 

संगीता ने कहा कि वह अकेले देश भ्रमण पर निकली हैं. अब तक के सफर में उन्हें असुरक्षा काफी महसूस नहीं हुआ. वह कहती हैं कि हिन्दुस्तान में महिलायें सुरक्षित हैं. 

 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!