Global Statistics

All countries
529,070,560
Confirmed
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
485,458,532
Recovered
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
6,303,878
Deaths
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am

Global Statistics

All countries
529,070,560
Confirmed
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
485,458,532
Recovered
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
6,303,878
Deaths
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
spot_imgspot_img

अफगानिस्तान में अगवा हुए मज़दूरों का नहीं मिला अबतक सुराग, चार माह से लापता है सात मजदूर  

Reported by: आशुतोष श्रीवास्तव 

गिरिडीह।

अफगानिस्तान में अगवा हुए मज़दूरों का चार महीने बीत जाने के बाद भी कोई सुराग नही मिल पाया है. इन मजदूरों के सशंकित परिजनों ने बगोदर के पूर्व विधायक विनोद सिंह से मुलाकात कर मदद की गुहार लगाई है.

अज्ञात बंदूकधारियों ने अगवा कर लिया था: 

आपको बता दें कि 6 मई को अफगानिस्तान के बाघलान प्रांत के बाग ए शमल इलाके से झारखण्ड के चार मज़दूरों सहित सात मज़दूरों को अज्ञात बंदूकधारियों ने अगवा कर लिया था. ये सभी काम करने के लिए गाड़ी से साइट पर जा रहे थे.  अगवा मज़दूरों में बगोदर के प्रकाश महतो, प्रसादी महतो, हुलास महतो और टाटीझरिया के काली महतो शामिल हैं. ये मज़दूर आरपीजी ग्रुप की कंपनी केईसी इंटरनेशनल के लिए वहां काम करते थे. ये कंपनी वहां बिजली उत्पादन और उसके डिस्ट्रिब्युशन से जुड़ी हुई है.

परिजनों के सब्र का बांध एक बार फिर टूटने लगा है:

आशंका जताई जा रही है कि तालिबानियों ने उन्हें अगवा किया है लेकिन अभी तक इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नही की गई है. मामले को लेकर जहां बगोदर वर्तमान विधायक नागेन्द्र महतो ने प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री को पत्र लिखकर मज़दूरों की वतन वापसी करवाने का अनुरोध किया था, वहीं इसी मामले को लेकर बगोदर के पूर्व विधायक विनोद सिंह के नेतृत्व में बगोदर, गिरिडीह  और रांची से लेकर दिल्ली तक आंदोलन किया गया था. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दिल्ली पहुंचे परिजनों को जल्द ही मज़दूरों की वापसी का दिलासा दिलाया था. इधर कंपनी के लोगों ने भी परिजनों को बताया था कि अगवा किये गए मज़दूर जल्द वापस आ जाएंगे. लेकिन मामले को लेकर चार महीने बीत जाने के बाद भी मज़दूरों का कोई पता नहीं चल पाया है. इस कारण परिजनों के सब्र का बांध एक बार फिर टूटने लगा है.

सरकार से आधिकारिक बयान जारी कर पूरी स्थिति स्पष्ट करने की मांग:

 पूर्व विधायक विनोद सिंह ने सरकार और विदेश मंत्रालय से मांग की है कि सार्वजनिक तौर पर आधिकारिक बयान जारी कर पूरी स्थिति स्पष्ट की जाए. मज़दूरों का अपहरण किसने किया है, वो किस हाल में हैं और सरकार उनको छुड़ाने की दिशा में क्या कारवाई कर रही है.

मलेशिया में फंसे हैं 19 मज़दूर: 

इधर हजारीबाग जिले के विष्णुगढ़ प्रखंड, बोकारो जिले के गोमिया प्रखंड तथा गिरिडीह जिले के बगोदर प्रखंड के 19 मजदूर भी मलेशिया में फंसे हुए है. बंधक मजदूरों ने सोशल मिडिया के माध्यम से सरकार से वतन वापसी की गुहार लगाई गई थी.स्थानीय विधायक जयप्रकाश भाई पटेल विदेश मंत्री से अपील की थी अब fedla tecno plant company के मालिक द्वारा मजदूरों की पासपोर्ट जब्त कर लिया गया है.मोटा रकम की मांग कि जा रही है जो मजदूरों के पास उपलब्ध नहीं है. 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!