Global Statistics

All countries
347,933,178
Confirmed
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
275,097,794
Recovered
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
5,606,255
Deaths
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm

Global Statistics

All countries
347,933,178
Confirmed
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
275,097,794
Recovered
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
5,606,255
Deaths
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
spot_imgspot_img

अब बाबा मंदिर का सोना होगा देशहीत में उपयोग, जानें कैसे ….


देवघर।

देवघर उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में गोल्ड विमौद्रिकरण को लेकर प्रेस वार्ता की गयी। इस दौरान उपायुक्त द्वारा बतलाया गया कि भारत सरकार और रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया का प्रयास है कि आम जनता के साथ-साथ देश हित में भी इन रखे हुए गोल्ड का उपयोग हो।

उपायुक्त द्वारा बतलाया गया कि वैसा सोना जो हमारे पास मौजूद है, जिसका न हम हीं कोई उपयोग कर रहे हैं और न हीं भारत सरकार के लिए कोई उपयोग है, वैसे सोना को उपयोग में लाने के उद्देश्य भारत सरकार द्वारा 2015 में गोल्ड डिमोनीटाईजेशन शुरू किया गया है। इसका मुख्य उद्देश्य यही है कि इस प्रकार के सोना का भारत सरकार द्वारा भारत के अर्थव्यवस्था में उपयोग करना। इस व्यवस्था का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि भारत सरकार के पास रिजर्व सोना में बढ़ोतरी होगी। वर्तमान समय में भारत सरकार को विदेश से 800-1000 टन सोना आयात करना पड़ता है। इस योजना के माध्यम से भारत सरकार विभिन्न धार्मिक संस्थाओं, व्यक्ति विशेष के पास से लगभग 20 हजार टन सोना को रिर्जव बैंक आॅफ इंडिया मुम्बई में बार (ईंट) के रूप में परिवर्तित कर उसके वजन के अनुसार उसका रसीद संबंधित व्यक्ति या संस्था को दी जायेगी। इसके एवज में बैंक द्वारा 2.5 प्रतिशत का ब्याज दिया जाता है। 30 ग्राम से उपर का गोल्ड जमा किया जा सकता है और जब हमारी जरूरत के हिसाब से जब चाहें तब गोल्ड या नगर राशि उस दिन के गोल्ड के रेट के हिसाब से ले सकते हैं।

उपायुक्त ने बताया कि बाबा मंदिर में भी मौजूद सोना को भारत सरकार को उपलब्ध करायी जायेगी, जिसका देशहीत में उपयोग होगा। साथ हीं बाबा मंदिर की भी आय में वृद्धि भी होगी।

भारतीय स्टेट आॅफ इंडिया के रिजनल मैनेजर द्वारा बतलाया गया कि हमारे यहां जो भी सोना वो घर में, लाॅकर में या फिर ट्रेजरी में है जो हमारे देश के लिए अनुपयोगी है। इससे न हीं देश को कोई लाभ होगा, न हीं हमें। अतः सोना देश एवं हमारे लिए उपयोगी हो इस हेतु भारत सरकार द्वारा गोल्ड डिमोनीटाईजेशन योजना शुरू किया गया है। इसके तहत् भारत में जितने भी ट्रस्ट मंदिर जिनके पास ज्यादा मात्रा में सोना होता है, उनसे भारत सरकार द्वारा लेकर उसे स्थानीय बैंक शाखा के लाॅकर में रखा जायेगा तथा वहां से भारत सरकार द्वारा निर्धारित एजेंसी के माध्यम से उसे मुम्बई अवस्थित रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया ले जाकर गोल्ड बार के रूप में बदल कर वजन अनुसार रसीद मंदिर, संस्था के प्रतिनिधि को दी जायेगी। 

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!