Global Statistics

All countries
529,070,560
Confirmed
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
485,458,532
Recovered
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
6,303,878
Deaths
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am

Global Statistics

All countries
529,070,560
Confirmed
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
485,458,532
Recovered
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
All countries
6,303,878
Deaths
Updated on Wednesday, 25 May 2022, 11:46:21 am IST 11:46 am
spot_imgspot_img

हाईटेक हुई धनबाद पुलिस, CRIME पर ऐसे लगेगी लगाम, तेज गति वाहनों पर भी रहेगी नजर

Reported by: बिपिन कुमार

धनबाद।

जिले में बढ़ते अपराध के मद्देनजर अब पुलिस भी हाईटेक हो रही है। शहर के विभिन्न चौक-चौराहों एवं कई रिहाइशी इलाकों में लगातार हो रही छिनतई की घटना पर लगाम लगाने के लिए टाइगर पुलिस के जवान गश्ती जरूर करती थी। लेकिन इन पर वरीय पुलिस अधिकारियों का नियंत्रण सही नहीं हो पाता था। जिसपर नियंत्रण रखने के लिए उन्हें जीपीएस ट्रैकर से लैस किया गया है ताकि कौन सा टाइगर जवान किस लोकेशन पर है और क्राइम के समय उन जवानो का सही तरीके से उपयोग किया जा सके।  

एसपी ने बांटा डिवाइस: 

एसपी कार्यालय के समक्ष सिटी और ग्रामीण एसपी ने  40 टाइगर पुलिस जवानो के बीच आज जीपीएस ट्रैकर का वितरण किया। इसके पूर्व सिटी एसपी पियूष पांडेय ने इसके फायदे और उपयोग करने के तरीके जवानो को बताया। सिटी एसपी ने बताया कि ड्यूटी ऑन होने के साथ ही इस ट्रैकर को टाइगर जवानो को  भी ऑन रखना है। यदि कोई जवान ड्यूटी के वक्त ट्रैकर को ऑन नहीं रखता है तो उसके ऊपर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। डीएसपी स्तर के अधिकारी टाइगर जवानो के ट्रैकर की मॉनिटरिंग करेंगे। 

पूर्व में थी ऐसी व्वयस्था: 

टाइगर जवान विभिन्न स्थानों पर बाइक से पेट्रोलिंग करती है। इन जवानो का मोबाईल नंबर आम जनता के पास भी उपलब्ध कराया गया था। क्राइम होने की स्थिति में इन जवानो के पास पुलिस अधिकारियों द्वारा फोन कर घटना की सूचना देने के साथ कहां हैं , किस लोकेशन में है इसकी भी जानकारी लेनी पड़ती थी तब जाकर कर ये अपराधी के पीछे भागते थे या फिर स्पॉट पर पहुंचते थे। 

व्यवस्था से यह होगा फायदा: 

टाइगर जवानो के जीपीएस ट्रैकर से लैस होने के बाद वरीय अधिकारी सीधे उनके लोकेशन को देख पाएंगे। क्राइम की स्थिति में पुलिस अधिकारी  टाइगर जवान का लोकेशन देखने के साथ क्राइम स्पॉट पर कार्रवाई करने का तुरंत आदेश जारी कर सकेंगे। इस व्यवस्था के तहत टाइगर जवान पूर्व की अपेक्षा अब ज्यादा अनुशासित रहेंगे। इन जवानो को बाइक से पेट्रोलिंग करना काम था इसलिए इसका फायदा उठाकर ये जहां तहां एक साथ मिलकर गप्पे लडाते रहते थे। ट्रैकर से लैस होने के बाद टाइगर जवान फांकी नहीं मार सकेंगे। पुलिस के वरीय अधिकारी सीधे उन्हें निर्देशित करते रहेंगे।   

तेज गति वाहनों पर भी रहेगी नजर: 

धनबाद पुलिस अब हाईटेक हो गई है। नेशनल हाईवे पर तय गति सीमा से ऊपर चलने वाले वाहनों पर हाईटेक कार 24 घंटे नजर रखेगी जिसके लिए राज्य सरकार ने धनबाद सहित सात जिलों को Highway Interceptor Vehicle दिया है जिससे तेज वाहन चलने वालों पर नजर रखेगी। जिसे 15 अगस्त के दिन उपायुक्त ने दिखायी थी हरी झंडी। जिससे अब हाईवे पर चलने वाले वाहनों पर बिशेष नजर रखा जाएगा, जिसका फ़ायदा भी आम लोगो को मिलने लगेगा। एनएच पर तय गति सीमा से अधिक तेज चलने वाले वाहनों का तस्वीर खींचकर ये व्हेकिल ऑनलाइन चालान काट कर सम्बंधित वाहन मालिक को देगी। 

पुलिस वरीय अधीक्षक ने किया निरीक्षण: 

इस अवसर पर वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यह वाहन NH 2 तथा NH 32 पर मुस्तैद रहेगा। वाहन में स्पीड सेन्सिंग गन, कैमरा, लैपटॉप इत्यादि है। दुर्घटनाओं को रोकने के लिए यह वाहन तेज गति से गुजरने वाले वाहनों को इंटरसेप्ट कर कार्रवाई करेगा तथा ऑन स्पॉट फाइन करेगा। SSP ने कहा कि कुछ समय के अंतराल में और भी ऐसी गाड़ी धनबाद पुलिस को उपलब्ध कराई जाएगी। इसके बाद शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर भी इसे स्थापित किया जाएगा।

सरकार की इस पहल से आम लोग भी है खुश:

आम लोग भी सरकार के  इस प्रयास से खुश है, और कहते है इससे खास कर अपराध पर अंकुश लगेगा और नेशनल हाईवे पाए लगातर सड़क दुर्घटना में भी कमी आएगी। साथ ही तेज गति से चलने वाले वाहनों पर धनबाद पूलिस की नजर रहेगी। 

 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!