spot_img

2019 में राष्ट्रीय युवा दिवस पर एक लाख युवाओ को निजी क्षेत्र में रोजगार देने का लक्ष्य

 

रिपोर्ट: बिपिन कुमार 

धनबाद:

झारखण्ड कौशल विकास मिशन सोसाईटी के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी अमर झा ने कहा कि आगामी 2019 में 12 जनवरी राष्ट्रीय युवा दिवस पर एक लाख युवाओ को निजी क्षेत्र में रोजगार देने का लक्ष्य है।

वर्ष 2018 में उक्त दिवस को 19 हजार युवाओ को निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराया गया है। यह इंडस्ट्रीज पार्टनर के सहयोग से ही मुमकिन है। एक लाख युवाओ को रोजगार देने का लक्ष्य चुनौती भरा जरूर है पर इंडस्ट्रीज कनेक्ट से यह मुमकिन भी है। शुक्रवार को यहाँ धनबाद क्लब में आयोजित इंडस्ट्रीज कनेक्ट कार्यक्रम को श्री झा सम्बोधित कर रहे थे। झारखण्ड कौशल विकास मिशन सोसाईटी एवं झारखंण्ड औधोगिक क्षेत्र विकास प्राधिकरण की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित एक दिवसीय इंडस्ट्रीज कनेक्ट कार्यक्रम में छह सेक्टर स्किल कॉन्सिल के पंद्रह प्रतिष्ठित कंपनियों के प्रतिनिधि तथा धनबाद के बीस से ज्यादा औधोगिक इकाईयो के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में सोसाईटी द्वारा राज्य भर में चलाए जा रहे स्किल प्रोग्राम की जानकारी से अवगत कराया गया। श्री झा ने कहा कि सोसाईटी के प्रशिक्षण केंद्र से प्रशिक्षित युवा औधोगिक कंपनियों में बेहतर योगदान देने के लिए हर दृष्टिकोण से उपयुक्त है। 

धनबाद के युवाओ को धनबाद में ही रोजगार उपलब्ध कराना मुख्य मकसद

जिले के उपायुक्त ए  डोड्डे ने उक्त कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि इंडस्ट्रीज कनेक्ट कार्यक्रम आयोजित करने के पीछे मकसद भी यही है कि इस जिले के युवाओ को स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षित कर उन्हें यही के इंडस्ट्रीज में रोजगार मुहैया कराना उद्देश्य है। इसके लिए यहाँ के इंडस्ट्रियल को जिस भी क्षेत्र में हुनर की आवश्यकता है, उस क्षेत्र में सोसाईटी के केंद्र में प्रशिक्षण देकर प्रोडक्ट तैयार करना है। इंडस्ट्रिलिस्ट से फीड बैक लेकर उन युवाओ को प्रशिक्षित किया जायेगा। 

इंडस्ट्रीज के सृजन में बिजली समस्या बड़ी बाधक

इंडस्ट्रीज कनेक्ट कार्यक्रम में आये इंडस्ट्रिलस्ट ने अपने संबोधन में कार्यक्रम को अति महत्वकांक्षी कदम जरूर बताया। साथ ही वर्तमान परिवेश में बिजली की समस्या को इंडस्ट्रीज के सृजन में एक बड़ा बाधक भी बताया। उधोगपति केदारनाथ मित्तल ने कहा कि जिले में इंडस्ट्रीज माहौल तैयार करना जरुरी है। इसके लिए सरकार को ऐसी व्यवस्था तैयार करने की आवश्यक्ता है जिससे की इंडस्ट्रीज को पर्याप्त बिजली मिल सके। बिजली में सब्सिडी आवश्यक नहीं है बिजली निर्बाध रूप में मिले यह जरुरी है।

बिजली में सुधार पर उठाये जा रहे कई बड़े कदम

कार्यक्रम के दरम्यान पत्रकारों से बात करते हुए उपायुक्त ने कहा कि बिजली में सुधार को लेकर कई बड़े कदम उठाये जा रहे है। जिले में अलग ग्रिड का निर्माण कार्य चल रहा है। डीवीसी से निर्भरता कम करने के लिए उन ग्रिड को नेशनल ग्रिड से जोड़ने की योजना है। कई नए सब स्टेशन के निर्माण पर भी काम चल रहा है। निश्चित ही आने वाले समय में बिजली में वयापक सुधार होंगे। जिसके परिणाम स्वरूप इस क्षेत्र में इंडस्ट्रीज का सृजन होगा।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!