spot_img
spot_img

गोबर उठाने को लेकर उपजे विवाद में जानलेवा हमला, 10 ज़ख़्मी, छह की हालत नाजूक

रिपोर्ट: शिव कुमार यादव 

देवघर/सारठ:   

थाना क्षेत्र के असहना गांव में पूर्व से चल रहे जमीन विवाद को लेकर रविवार को दोनों पक्षों में हुए खूनी संघर्ष में एक महिला समेत 10 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गये हैं। जिनमें छह की हालत नाजुक देख प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर ईलाज के लिए देवघर रेफर किया गया है।

गोबर उठाने को लेकर उपजे विवाद में जानलेवा हमला:

घटना के संबंध में बताया जाता है कि प्रथम पक्ष के द्वारा बनाये गये गोबरढेरी से दुसरे पक्ष के लोगों द्वारा जबरन गोबर उठाया जा रहा था। प्रथम पक्ष द्वारा इसका विरोध करने पर द्वितीय पक्ष के लोगों द्वारा फरसा, टांगी व लोहे के रड से जानलेवा हमला कर दिया। हो-हल्ला सूनकर गांव के अन्य लोग जमा हुए और विवाद को शांत कराने का प्रयास भी किया लेकिन दोनों ओर से खूनी संघर्ष जारी रहा। सूचना मिलने पर गांव पहूंची सारठ थाना पुलिस ने दोनों पक्षों के घायलों को उठाकर सारठ सीएचसी लाया। वहीं गांव में भारी तनाव की स्थिति देखकर सारठ थाना प्रभारी नुनदेव राय ने सारवां, चितरा, पालोजोरी थाने को सूचना देकर गांव बुलाया गया है। 

घायलों में प्रथम पक्ष के दिलीप राय, गीता देवी, सदानंद राय, मिथिलेश राय, मनोज राय व पप्पू राय वहीं दुसरे पक्ष के प्रफूल्ल राय , प्रमोद राय , अषोक राय व मदन राय शामिल है। 

बालू उठाव में रंगदारी लेने को लेकर उपजा विवाद:

ग्रामीणों ने बताया कि अजय नदी के असहना घाट से प्रतिदिन सौ से अधिक ट्रेक्टर में बालू का उठाव होता है। द्वितीय पक्ष के दानी राय, रंधीर राय वगैरह द्वारा बालू ट्रेक्टर से अवैध वसूली की जाती है।  इसका विरोध द्वितीय पक्ष के लोगों द्वारा किया गया था।  पूर्व में भी द्वितीय पक्ष के लोगों द्वारा प्रथम पक्ष के लोगों के साथ जबरन मारपीट की गई थी। जिसके बाद थाने में दर्ज हुई घटना के बाद पीड़ित पक्ष को ही जेल जाना पड़ा था वहीं मारपीट करने वाले पक्ष को बेल मिल गई थी।

पुलिस छावनी में तब्दिल हुआ सीएचसी:

घटना के बाद दोनों पक्ष के घायल लोगों को जब ईलाज के लिए सीएचसी पहूंचाया तो वहां भी दोनों पक्षों के लोग दोबारा भीड़ने जैसी स्थिति बन गई थी। लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों को समझा बुझाकर मामले का शांत कराया। इधर घटना की सूचना वरीय अधिकारी को दिये जाने के बाद पालोजोरी व सारवां पुलिस सीएचसी पहूंची है। वहीं खबर लिखे जाने तक किसी पक्ष द्वारा लिखित शिकायत नहीं करने की वजह से मामला दर्ज नहीं हो पाया था। पुलिस घटना की जांच में जुट गई है।  

 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!