spot_img

देवघर: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, अंतर्राजीय चोर गिरोह का पर्दाफाश, 12 गिरफ्तार

रिपोर्ट: उपेंद्र कुमार 

देवघर/देवीपुर: 

देवीपुर थाना की पुलिस ने अंतरराजीय चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। सेंधमारी कर चोरी, छिनतई समेत घटनाओं को अंजाम देने वाले गिरोह के 12 सदस्य को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता पायी है. 

जानकारी हो कि तिलजोरी गांव निवासी सीएसपी संचालक चन्दन कुमार लाल के घर पर अपराधियों ने रविवार की रात्रि ढाई बजे सात से आठ की संख्या में आये बदमाशों ने सेंधमारी कर नगदी व जेवर समेत एक लाख रूपया की छीनतई कर फरार हो गये थे। विरोध करने पर उसके साथ बदमाशों ने मारपीट भी की थी।  पीड़ित प्रज्ञा केन्द्र भी चलाता है। सूचना पाकर देवीपुर थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची थी परन्तु पुलिस के पहुंचने से पहले  ही सभी बदमाश फरार हो गये थे।

वहीं दुसरी घटना बारह तारीख दिन मंगलवार को दो बाईक पर सवार चार अपराधियों ने तिलौना मोड के पास भारत फाइनांस इनक्लुजन लिमिटेड के फिल्ड मैनेजर प्रदीप कुमार यादव से एक लाख सैंतालीस हजार की छीनतई कर ली थी। लगातार हो रहे घटनाओं से देवीपुर पुलिस की नींद उड गई थी।

थाना प्रभारी पीसी सिन्हा के नेतृत्व में अपराधियों की धर पकड के लिये जगह-जगह पर जाल बिछाने का काम शरू किया गया। जिसका लाभ पुलिस को मिला। पुलिस को मिली गुप्त सूचना के आधार पर गुरूवार को समलापुर के निकट अपराधियों के एक बडे गिरोह की जानकारी मिली। जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी पीसी  सिन्हा ने एस आई पुनीत उरांव,  ए एस आई बी के सिंह, यदुबीर सिंह, रंजीत सिंह सहित पुलिस बल के साथ घटना को अंजाम देने वाले गिरोह के बारह सदस्यों को 12 मोटरसाइकिल, मोबाइल फोन के साथ गिरफतार कर थाना ले आये व सभी की तलाशी ली गई। 

बाइक

तलाशी में पुलिस को पचासी हजार नगद, सोने का एक कानबाली, आधारकार्ड, समेत कई कागजात पाया गया। सूचना पाकर देवघर डीएसपी  दीपक कुमार पांडेय देवीपुर थाना पहुंचे व कांड के त्वरित उद्भेदन व अपराधियों की गिरफतार पर अभियान में शामिल जवानों की प्रशंसा की। साथ ही कहा कि सभी पुलिस पदाधिकारियों को पुरस्कृत करने के लिये अनुशंसा की जायेगी।

डीएसपी दीपक पांडेय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि गिरफतार एक दर्जन अपराधी बिहार के कटिहार जिले के विभिन्न जगहों के है। इनके पास से पचासी हजार रूपैया नगद, सोने का एक कानबाली, आधार कार्ड, गाडी का कागजात बरामद किया गया है। डीएसपी ने बताया कि जांच के बाद पता लगेगा कि आधार कार्ड व गाडी का कागजात असली है या नकली।

साथ ही श्री पांडेय ने बतलाया कि दिन में गिरोह के सभी सदस्य शहर-शहर व गांव-गांव घुमकर जडी बुटी बेचने का काम करते हैं। व मौका मिलते ही लोगों के यहां सेंधमारी कर चोरी, छिनतई समेत घटनाओं को अंजाम देते हैं।  रास्ते में मोटरसाइकिल सदस्यों के गिरोह छिनतई की घटना को भी अंजाम देते हैं। देवीपुर पुलिस के कांड के उद्भेदन के बाद से लोगों ने भी पुलिस की कार्य की सराहना की है। 

 अपराधियों की सूची:

1-अंचल घोष -39 वर्ष, साकिम पलसा, पोस्ट तेलता, थाना बलरामपुर जिला कटिहार,
2- मिसिया घोष- 18 वर्ष, साकिम घर घप्पा, तेली बस्ती, पोस्ट पांजीवाडा, थाना ग्वाल पोखर जिला उतरदिनाजपुर, पश्चिम बंगाल
3-केदार घोष-24 वर्ष, 
4- अमर घोष- 40 वर्ष- 
5-विद्यानंद घोष- थाना बलरामपुर जिला कटिहार, फुलचन्द घोष- 19 वर्ष- साकिम घर घप्पा पश्चिम बंगाल,
6- परमानंद यादव- 21 वर्ष- साकिम पलसा पोस्ट तेलता थाना बलरामपुर जिला कटिहार,
7-पप्पु घोष 27 वर्ष- साकिम पलसा पोस्ट तेलता थाना बलरामपुर जिला कटिहार
8 बिष्टु यादव- 32 वर्ष- साकिम पलसा पोस्ट तेलता थाना बलरामपुर जिला कटिहार
9- बाबुराम घोष- 23 वर्ष- साकिम घर घप्पा पोस्ट पांजीवाडा, जिला उतरदिनाजपुर,
10-विश्वलाल घोष- 27 वर्ष, थाना ग्वालपोखर जिला उतर दिनाजपुर, राज्य पश्चिम बंगाल,
11- महेन्द्र घोष- 19 वर्ष- थाना बलरामपुर जिला कटिहार
12- बबलु घोष साकिम घर धप्पा शामिल है। 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!