spot_img

रांची और खूंटी में था ‘बादशाह गिरोह’ का आतंक, सरगना सहित चार गिरफ्तार


रांची:

रांची एसएसपी की क्विक रिस्पांस टीम ने रांची और खूंटी के ग्रामीण क्षेत्रों में आतंक मचने वाले बादशाह गिरोह के सरगना सहित चार सदस्यों को  धर दबोचा है। यह गिरोह ग्रामीण इलाकों में काम करने वाले संवेदकों और कारोबारियों से डरा धमका कर रंगदारी वसूला करते थे। छापेमारी में रांची के नामकुम और नगड़ी थाने की टीम भी शामिल थी।

सूचना पर कार्रवाई: 

रांची एसएसपी कुलदीप द्वेदी को गुप्त सूचना मिली थी कि बादशाह गिरोह का सरगना जितेंद्र महतो उर्फ सिंह जी नामकुम इलाके में एक सवेदक से रंगदारी वसूलने आने वाला है। सूचना मिलते ही एसएसपी ने अपने क्विक रिस्पांस टीम को एक्टिव किया और एक ऑपरेशन प्लान किया। क्विक रिस्पांस टीम को जानकारी मिली कि गिरोह के 7 सदस्य नामकुम के बेनटोली जंगल मे बैठे हुए है। जिसके बाद टीम ने उन्हें घेरने के इरादे से जंगल की घेराबंदी शुरू की। पुलिस की टीम जैसे ही जंगल के करीब पहुची सभी अपराधी भागने लगे। क्विक रिस्पांस की टीम में शामिल जवानों ने उन्हें खदेड़ना शुरू किया। इस दौरान चार अपराधी पकड़े गए । पकड़े गए अपराधियों में गिरोह का सरगना जितेंद्र महतो भी शामिल है। इसके अलावा गिरोह के तीन और सदस्य संजय स्वांसी , बउवा उराव और अमर महतो भी पकड़े गए। गिरफ्तार अपराधियों के पास से एक डबल बैरल बंदूक, छह कारतूस, दो मोबाइल और मोटरसाइकिल बरामद हुआ है।

नक्सली संगठन के तर्ज पर करते थे काम : 

पुलिस ने बताया कि बादशाह गिरोह नक्सली संगठन के तर्ज पर काम किया करता था। बादशाह गिरोह के द्वारा नामकुम थाना क्षेत्र में काम करने वाले दो बड़े हॉस्पिटल ग्रुप से भी 50 लाख की रंगदारी मांगी गई थी।  इससे संबंधित प्राथमिकी रांची के नामकुम थाने में दर्ज करवाया गया था। रांची के ग्रामीण इलाकों में इस गिरोह का आतंक छाया हुआ था। खासकर नगड़ी और नामकुम थाना क्षेत्र में। कई ठेकेदारों ने इस गिरोह के खिलाफ थानों में मामले दर्ज करवाए थे।  खूंटी जिले के कर्रा थाना क्षेत्र में भी इस गिरोह के द्वारा कई घटनाओं को अंजाम दिया गया था।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!