spot_img
spot_img

2018 के अंत तक नक्सल मुक्त राज्य बनेगा झारखण्ड, खूंखार नक्सलियों की सम्पति खंगालने का निर्णय

रिपोर्ट: आशुतोष श्रीवास्तव 

                                                                                                                                                                                                                      गिरिडीह: 

प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के लाल आतंक को जड़ से समाप्त करने की कवायद तेज हो गयी है. 

नक्सल मुक्त अभियान को लेकर उच्च स्तरीय मीटिंग: 

आज केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 7वीं बटालियन के बाजार समिति स्थित कैंप पर सीआरपीएफ आईजी संजय आनंद लाटेकर समेत कई वरीय अधिकारी की मौजूदगी में हाई लेवल की मीटिंग हुई. बैठक में 2018 के अंत तक पुरे झारखण्ड से लाल आतंक को समाप्त करने की ठोस रणनीति तैयार की गयी. बैठक से पहले आईजी सीआरपीएफ संजय आनंद लाटेकर ने 7वीं बटालियन के बेसकैंप पर मौजूद जवानो की हौसला अफजाई के लिए सैनिक सम्मान समारोह का आयोजन किया। 

गोपनीय था आईजी का दौरा:

आईजी के गिरिडीह दौरे को गोपनीय रखा गया था. आधिकारिक रूप से आज के कार्यक्रम के बारे में मिडिया को जानकारी नहीं दी गयी थी. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 7 वीं बटालियन के बाजार समिति स्थित कैंप पर पहुँचने से पहले आईजी सीआरपीएफ ने हवाई मार्ग से नक्सल प्रभावित इलाकों का निरीक्षण किया। इस दौरान वह बिहार सीमा पर स्थित सेवाटांड सीआरपीएफ कैंप में जाकर नक्सल मुक्त अभियान की समीक्षा की। 

नक्सल उन्मूलन में सभी एजेंसीं एक साथ कर रही काम: 

गिरिडीह में पत्रकारों से बात करते हुए आईजी सीआरपीएफ ने कहा कि देश के सभी खूंखार नक्सली सुरक्षा एजेंसी के राडार पर है. नक्सल प्रभावित इलाके के तमाम एसपी को निर्देशित किया गया है कि नक्सलियों के चल अचंल सम्पति का ब्यौरा का जुटान करे. इस दिशा में देश के तमाम जाँच एजेंसीं एक साथ मिलकर काम कर रही है. 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!