spot_img
spot_img

आखिरकार… ज़िन्दगी की जंग हार गयी रेप पीड़िता


बोकारो: 

पाकुड़ जिले के कानकोरबोना गांव में दुष्कर्म की शिकार बनी नाबालिग युवती आखिरकार 14 दिन के लंबे संघर्ष के बाद जिंदगी की जंग हार गयी.

दुष्कर्म पीड़िता की मौत इलाज के दौरान बोकारो जेनरल अस्पताल में हो गयी. बताते चलें कि चार मई को पीड़िता के साथ उसके नानी के घर में दो आरोपियो ने अकेले पाकर उसके साथ न सिर्फ दुष्कर्म किया बल्कि नाबालिग के हल्ला करने पर उसे जिंदा जलाने का प्रयास भी किया.

मामले में पाकुड़ पुलिस ने एक आऱोपी बेचन मंडल को गिरफ्तार कर लिया है जबकि दूसरा आरोपी अब भी फरार है. घटना के बाद परिवार के सदस्य बेहतर इलाज के लिए पश्चिम बंगाल ले गए. घटना की जानकारी जैसे ही आग की तरह फैली मामले को जिला प्रशासन के साथ पुलिस महकमा औऱ राज्य के आलाधिकारियों ने संज्ञान लिया.

पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए प्रशासन ने बच्ची को बेहतर इलाज के लिए बोकारो जेनरल अस्पताल में शिफ्ट कराया गया. जहां इलाज के दौरान आज पीड़िता की मौत हो गयी.

घटना के बाद पीड़ित के परिजन कह रहे है कि आरोपियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए.

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!