spot_img

मानवता को शर्मसार करने वालों को दिन के उजाले में रौशनी देने की कोशिश

रिपोर्ट: बिपिन कुमार 

धनबाद: 

बेटे की चाहत नहीं, पर अब डरती हूँ बेटी पैदा करने से…क्या कहूँगी, क्यूँ उसे स्वर्ग से नर्क की दहशत में धकेलु? ये दर्द, इस डर से अब देश की ज़्यादातर माएं गुज़र रही. देश में बेटियों के प्रति बढ़ती घटनाओं ने झकझोर कर रख दिया है. उन माओं की आवाज़ बन नारी उन्मूलन महिला समिति की महिलायें सड़क पर उतरी हैं. आज समिति की सदस्यों ने दिन में ही कैंडल मार्च निकला। 

धनबाद के मुनीडीह थाना क्षेत्र में एक पांच साल की मासूम के साथ रेप के बाद हत्या के विरोध में महिलाओ ने सड़क पर उतर कर दिन के उजाले में ही कैंडल मार्च निकाल कर देशवासियों को जगाने की अपील की.  कहा की आज महिलाए और बच्ची कही भी सुरक्षित नहीं है, जरुरत है लोगो की मानसिकता बदलने की. एक ओर जहा माँ दुर्गा और माँ लक्ष्मी की पूजा करते हैं, वही दूसरी ओर महिलाओ पर गन्दी नजर रखी जाती है. ऐसे लोगो को समाज में रहने का कोई हक़ नहीं है.

साथ ही बिहार के तर्ज पर महिलाओं ने झारखण्ड में भी शराब बंदी की बात कही. महिलाओं ने कहा कि  धनबाद में शराब के नशे में ही बच्ची के साथ रेप व हत्या हुई. ऐसे में ऐसी घटना पर लगाम कसने के लिए शराब बंदी ज़रूरी है. 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!