spot_img

मनाही के बाद भी बाज़ नहीं आ रहे बड़े-बड़े प्रतिष्ठान, कर रहे प्लास्टिक का इस्तेमाल

रिपोर्ट:एजाज़ अहमद 

देवघर/मधुपुर: 

पर्यावरण के लिए प्लास्टिक को सबसे बड़ा खतरा माना जाता है. एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार प्लास्टिक के थैले में अगर गर्म किए हुए खाने-पीने की सामग्री रखी जाए तो इससे 35 प्रकार के कैंसर होता हैं. इसका सेवन करना यानी मौत को दावत देने के बराबर है. प्लास्टिक ऐसी वस्तु है जो कभी खत्म नहीं होती है. इसके बावजूद भी लोग आज प्लास्टिक पर निर्भर है.

सर्च

सरकार द्वारा प्लास्टिक पर पूरी तरह से बैन लगाए जाने के बावजूद मधुपुर के विभिन्न दुकानों और मार्केट काम्प्लेक्स में प्रतिबंधित प्लास्टिक का व्यवहार धड़ल्ले से किया जा रहा है. इसके मद्देनजर मधुपुर नगर परिषद में पदस्थापित नगर प्रबंधक मुकेश निरंजन ने बाजार के दर्जनों दुकानों में सर्च अभियान चलाया. इस क्रम में बालाजी मेगा मार्ट में भारी मात्रा में प्लास्टिक के थैले आदि बरामद किए गए.

मौके पर ही सिटी मैनेजर मुकेश निरंजन द्वारा 5000 का जुर्माना मेगा मार्ट के मालिक से लिया.  इसके अलावा रामजस रोड के नियाज की दुकान , एम आर फैशन, हाजी गली के मुस्कान फैशन, शाहीद कपडा दुकान, शांति निकेतन के किराना दुकानदार अनुप चौधरी व शशि गुप्ता की दुकान से प्लास्टिक बरामद किया. इन दुकानदारों से 500 से 1000 रूपया तक जुर्माना वसूला गया.

सर्च अभियान में सिटी मैनेजर मुकेश निरंजन के साथ पुलिस टीम भी शामिल थी. मौके पर मुकेश निरंजन ने कहा कि सरकार ने प्लास्टिक पर पूरी तरह से बैन लगाया है . प्लास्टिक रखने पर जुर्माना और कानूनी कार्यवाही का प्रावधान है. उन्होंने शहर वासियों से अपील किया है कि जब भी लोग बाजार खरीदारी के लिए आए तो अपने साथ थैला जरूर लाए. पर्यावरण संरक्षण में प्लास्टिक बाधक पहुंचाती है. जरूरत है लोगों को जागरुक होने की.

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!