Global Statistics

All countries
200,650,253
Confirmed
Updated on Wednesday, 4 August 2021, 10:45:31 pm IST 10:45 pm
All countries
179,085,099
Recovered
Updated on Wednesday, 4 August 2021, 10:45:31 pm IST 10:45 pm
All countries
4,265,259
Deaths
Updated on Wednesday, 4 August 2021, 10:45:31 pm IST 10:45 pm

Global Statistics

All countries
200,650,253
Confirmed
Updated on Wednesday, 4 August 2021, 10:45:31 pm IST 10:45 pm
All countries
179,085,099
Recovered
Updated on Wednesday, 4 August 2021, 10:45:31 pm IST 10:45 pm
All countries
4,265,259
Deaths
Updated on Wednesday, 4 August 2021, 10:45:31 pm IST 10:45 pm
spot_imgspot_img

जंगल में कर रहे थे ये काम, अचानक पहुँच गयी पुलिस

रिपोर्ट: राकेश कुमार 

दुमका : 

दुमका पुलिस ने बैंक अधिकारी बनकर लोगों को अपना शिकार बनाने वाले तीन साइबर अपराधियों को सरैयाहाट थाना क्षेत्र के परपहरा जंगल में साजिश रचते हुए धर दबोचा है.

दुमका पुलिस ने साइबर अपराधियों के पास से सात मोबाइल, नौ सिम और एक स्कूटी बरामद की है. गिरफ्तार साइबर अपराधी वंशी मंडल धनबाद के मनियाडीह थाना के खटजोरी, रोबिन मंडल गिरिडीह के गांडेय थाना के खटजोरी और अजय मंडल गिरिडीह के ताराटांड़ के पडरिया गांव का रहने वाला है. ये सभी बैंक अधिकारी बनकर लोगों के एटीएम से रुपया निकाल लेते थे. 

पुलिस मान रही बड़ी सफलता: 

पुलिस इसे बड़ी सफलता मान रही है. दुमका के साइबर पुलिस उपाधीक्षक श्रीराम समद की माने तो गुप्त सुचना पर यह पता चला कि तीन साइबर अपराधी सरैयाहाट के परपहरा जंगल में मोबाइल पर बहुत देर से बात कर रहे हैं और उनलोगों के पास में एक स्कूटी भी खड़ी है. पुलिस सूचना के आधार पर जब टीम बनाकर जंगल के पास पहुंची तो तीनों साइबर अपराधी भागने लगे. इसी दौरान पुलिस ने पीछा कर तीनों साइबर अपराधी को पकड़ लिया. तीनों साइबर अपराधी के पास से सात मोबाइल और तीन सिम बरामद हुए.

पहले भी जा चुके हैं जेल: 

पूछताछ में यह बात सामने आई कि ये तीनो साइबर अपराधी हैं और लोगों को बैंक अधिकारी बनकर अपना शिकार बनाते थे और सरैयाहाट के परपहरा जंगल में बैठकर लोगों को फोन कर झांसे में लेने का प्रयास कर रहे थे. वहीँ पुलिस को यह भी पूछ ताछ में पता चला कि इनके गिरोह में और भी लोग शामिल हैं और इन तीन साइबर अपराधी में साइबर अपराधी अजय मंडल और रोबिन मंडल को गिरिडीह पुलिस ने अगस्त 2017 में गिरफ्तार भी किया था. लेकिन उसके बाद ये साइबर अपराधी तीन से पांच महीने जेल में रहने के बाद जमानत पर छुट गये थे लेकिन इनकी करतूत नहीं छूटी और कई लोगों को निशाना बनाकर 50 हजार रुपये तक की ठगी कर ली. 

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!