Global Statistics

All countries
176,114,494
Confirmed
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
158,326,060
Recovered
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
3,802,239
Deaths
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm

Global Statistics

All countries
176,114,494
Confirmed
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
158,326,060
Recovered
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
3,802,239
Deaths
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
spot_imgspot_img

CM के सुरक्षाकर्मियों को ये हक नहीं…

रिपोर्ट: विपिन कुमार 


धनबाद:

एक ओर जहाँ सूबे के मुखिया रघुवर दास पत्रकारों की सुरक्षा और सुविधा को लेकर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं. वहीं दूसरी ओर उनके ही सुरक्षाकर्मी द्वारा पत्रकारों के साथ बदसलूकी किया जाना, सूबे की तंत्र व्यवस्था पर सवाल उठाता है. 

धनबाद परिसदन में कार्यक्रम कवर करने पहुंचे मीडियाकर्मियों के साथ मुख्यमंत्री रघुवर दास के सुरक्षा कर्मियों ने बदसलूकी की. न्यूज़ कवर करने की होड़ में लगे अलग-अलग मीडिया संस्थान के पत्रकार और फोटोग्राफर को एका-एक सूबे के मुखिया की सुरक्षा में लगे सुरक्षा कर्मियों ने धक्का दे दिया. जिसमे प्रेस का एक फोटोग्राफर भीड़ में ही नीचे गिर गया, फोटोग्राफर को मामूली चोटें आयीं हैं. लेकिन सुरक्षाकर्मी द्वारा की गयी ये बदसलूकी के बाद मीडियाकर्मी आक्रोशित हो गए. पत्रकारों ने विरोध में हंगामा करना शुरू कर दिया. हालाँकि मौके पर मौजूद ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर ने मीडिया कर्मियों को समझा-बुझाकर शांत कराया. 

हंगामा शांत तो हो गया लेकिन इस बदसलूकी की जितनी निंदा की जाये कम है. बेशक, सुरक्षा में लगे कर्मी अपने कर्तव्यों का पालन कर रहे थे. यकीनन, भीड़ काफी हो गयी होगी, लेकिन सभी पत्रकार और फोटोग्राफर भी अपने कर्तव्यों का ही पालन कर रहे थे. सूबे के cm की एक बाईट या एक फ़ोटो पत्रकारों को इसलिए चाहिए ताकि जनता तक इस बात को पहुँचाया जा सके कि आखिर जिन्हें जनता ने अपना कीमती वोट देकर जिम्मेदारी सौंपा है. वह अपनी ज़िम्मेदारी निभाने पर कितना खरा उतर रहे. इसी कड़ी में अगर ज्यादा तादाद में मिडियाकर्मी पहुँच भी गये तो उसका कतई मतलब नहीं की उन्हें धक्का दे दिया जाये. बिलकुल, सुरक्षा के दृष्टिकोण से पत्रकारों को दूर हटने के लिए समझाया भी जा सकता था. लेकिन, बदसलूकी करने का हक किसी को भी नहीं. 

marpit

 
बाल-बाल बचा फोटोग्राफर: 

सुरक्षाकर्मी द्वारा दिए गये धक्के में भले ही एक फोटोग्राफर सिर्फ गिरा. लेकिन यहाँ एक बड़ी अनहोनी हो सकती थी. धक्के के बाद गिरे फोटोग्राफर से महज एक इंच की दुरी पर बिल्डिंग से नीचे उतरने की सीढिया थी. अगर वह इन सीढ़ियों से जा टकराता तो कोई अनहोनी हो सकती थी.   

प्रेस क्लब के अध्यक्ष ने की निंदा: 

धनबाद प्रेस क्लब के अध्यक्ष संजीव झा ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि एक ओर जहाँ मुख्यमंत्री रघुवर दास मीडिया कर्मियों के लिए सिर्फ बड़ी-बड़ी बाते ही नहीं करते बल्कि उनकी सुविधाओं का भी ख्याल रखते है. कल ही सीएम द्वारा यहाँ के मीडियाकर्मियों के लिए प्रेस क्लब के भवन का शिलान्यास किया गया है. वहीँ सीएम के सुरक्षा कर्मियों द्वारा मीडियाकर्मियों से इस तरह का दुर्व्यवहार बेहद ही निंदनीय है. 

बता दें कि गुरुवार को ही सीएम रघुवर दास धनबाद में प्रमंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन और अन्य कई कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद धनबाद के सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम के लिए रुके थे. आज cm के यहाँ से प्रस्थान के दौरान मीडिया कर्मी न्यूज कवरेज के लिए धनबाद सर्किट हाउस पहुंचे थे. जहाँ मीडियाकर्मियों के साथ बदसलूकी की गयी.     

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles