spot_img

समझौते के एवज़ में नज़राना


साहेबगंजः

एक ओर जहां केन्द्र में मोदी सरकार और राज्य में रघुवर सरकार भ्रष्टाचार मुक्त शासन व्यवस्था के लिये प्रयासरत हैं तो दूसरी ओर शासन-प्रशासन के लोग आज भी रिश्वत नजराना लेने से परहेज नहीं कर रहे.
ऐसा ही एक वाक्या साहेबगंज जिला के बरहेट थाना से मिला है. जहां एक पुलिस पदाधिकारी आपसी मेल-जोल कराने के नाम पर दोनों पक्षों से कथित रुप से बतौर नजराना ग्यारह-ग्यारह सौ रुपये ले रहे हैं. यह पूरा कारनामा कैमरे में कैद हो गया है.

वीडियो के अनुसार, बरहेट थाना के सब इन्सपेक्टर विद्या बिनोद सिंह एक जमीन विवाद में दोनों पक्षकारों से मामला सुलह कराने के नाम पर बतौर नजराना ग्यारह सौ रुपये की मांग करते और लेते दिख रहे हैं. इतना ही नहीं जब दोनों पक्षों ने पैसे थोड़े कम करने की बात कही तो सब इन्सपेक्टर विद्या बिनोद सिंह ने कहा कि 1100 रूपये लगता है.
साथ ही वीडियो में बातचीत से ऐसा लग रहा कि पहले भी इस तरह के मामले में पैसे लिये जा चुके हैं. क्योंकि वह किसी से साफ कहते दिख रहे कि तुमने अपने काम के लिए अगले बार कितने रूपये दिये थे. हर हाल में 1100 रूपये ही चाहिए.
इधर, इस मामले को साहेबगंज में नवपदस्थापित पुलिस कप्तान धनंजय कुमार सिंह ने गंभीरता से लेते हुये इसकी जांच का जिम्मा सदर डीएसपी को दिया है. एसपी ने कहा कि जांच में दोषी पाये जाने पर कठोर कार्रवाई की जायेगी.

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!