Global Statistics

All countries
240,231,299
Confirmed
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
215,802,873
Recovered
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
4,893,546
Deaths
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am

Global Statistics

All countries
240,231,299
Confirmed
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
215,802,873
Recovered
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
4,893,546
Deaths
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
spot_imgspot_img

अब अपने जाल में भोले-भाले लोगों को नहीं फंसा सकेंगे साइबर अपराधी

रिपोर्ट: नितेश कुमार 


दुमका:

साइबर अपराध के बढ़ते जाल से इंकार नही किया जा सकता. हर दिन एक न एक घटना सामने आती है, जब ये पता चलता है कि किसी की मेहनत की कमाई एक कॉल के बाद छीन ली गयी. भोले-भाले लोग उन्हें भला क्या पता कि फ़ोन के दुसरे ओर बात कर रहा व्यक्ति उनका भला नहीं बल्कि उनके बैंक खाते में सेंध मारने आया है. जिसे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने जोड़-जोड़ के ये पैसे अपने बेटे की पढाई या बेटी की शादी के रखी है. उसे तो बस फर्क पड़ता है आपकी एक गलती पर,जो उसे मालामाल कर देती है. लेकिन साइबर अपराधियों के इस जाल को काटने का वक्त आ गया है. 
दुमका पुलिस ने साइबर क्राइम के खिलाफ लड़ाई लड़ने की अनोखी पहल की है. पुलिस जानती है कि जितना ज्यादा से ज्यादा लोग जागरूक होंगे साइबर अपराध पर लगाम कसने में आसानी होगी. इसलिए पुलिस ने अब बड़ों के साथ-साथ बच्चों को जागरूक करना शुरू किया है. 

क्राइम
शहर के कड़हरबील और जरमुंडी के बालक मध्य विद्यालय में पुलिस द्वारा शिविर लगाकर बच्चों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक किया गया.
कड़हरबील में साइबर डीएसपी श्रीराम समद ने बच्चों से कहा कि वे मोबाइल का उपयोग तो करें, लेकिन अगर कोई उनसे कॉल के ज़रिये किसी तरह के कागजात, बैंकिंग या एटीएम पिन कोड आदि की जानकारी मांगता है तो न दें. फोन करने वाला साइबर अपराधी हो सकता है. 
वहीं, मुफस्सिल पुलिस निरीक्षक के के साह ने कहा कि अपराधी ज़्यादातर गांव के लोगों को अपना निशाना बनाते हैं. ऐसे में बच्चों को जागरूक किया जा रहा ताकि बच्चे अपने घर के लोगों को बताएं कि अगर कोई बैंक का अधिकारी बनकर जानकारी मांगता है तो उसे कतई न दें. साथ ही तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दें.
इधर, बालक मध्य विद्यालय जरमुंडी के प्रांगण में लगे शिविर में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी विष्णुदेव चौधरी ने बच्चों को आवश्यक जानकारी दी. अपराधी का शिकार होने से बचने के लिए बैंक खाता, एटीएम व आधार संख्या आदि कागजात से जुड़ी गोपनीय जानकारी अनजान व्यक्ति को नहीं बताने तथा सतर्कता रखने को कहा. 

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!