Global Statistics

All countries
194,985,522
Confirmed
Updated on Monday, 26 July 2021, 6:13:16 pm IST 6:13 pm
All countries
175,180,242
Recovered
Updated on Monday, 26 July 2021, 6:13:16 pm IST 6:13 pm
All countries
4,178,555
Deaths
Updated on Monday, 26 July 2021, 6:13:16 pm IST 6:13 pm

Global Statistics

All countries
194,985,522
Confirmed
Updated on Monday, 26 July 2021, 6:13:16 pm IST 6:13 pm
All countries
175,180,242
Recovered
Updated on Monday, 26 July 2021, 6:13:16 pm IST 6:13 pm
All countries
4,178,555
Deaths
Updated on Monday, 26 July 2021, 6:13:16 pm IST 6:13 pm
spot_imgspot_img

न खिड़की, न दरवाजा..पंचायत सचिवालय या खंडहर


देवघर/पालाजोरीः

सरकार पंचायत का विकास चाहती है. प्रत्येक पंचायत को हाईटेक बनाया जा रहा है. ताकि गाँव के लोगो का काम पंचायत में आसानी से हो सके. सरकार ने इसके लिए पंचायत स्तर पर भव्य पंचायत सचिवालय बनाया है. सभी पंचायत सचिवालयों को हर सुविधा से लैस किया जा रहा है. लेकिन देवघर जिले के पालोजोरी प्रखंड अंतर्गत पथरघटिया पंचायत का सचिवालय सबसे अलग है.

khidki
पथरघटिया गांव में साल 2009 में 22 लाख की लागत से भव्य पंचायत सचिवालय भवन का निर्माण कराया गया था. हालांकि आज यह सचिवालय भवन खंडहर में तब्दील हो चुका है. भवन निर्माण पंचायत के ग्रामीणों की सुविधा के लिएबना था. लेकिन भवन निर्माण के बाद से ही न तो आज तक यहां किसी पंचायत प्रतिनिधि, पंचायत कर्मी या प्रखंड प्रशासन के किसी अधिकारी ने कदम रखा है. सारे काम पुराने जर्जर भवन से ही होते हैं. लिहाजा आज इस भवन में न तो खिड़की है, न दरवाजा. धिरे-धिरे सारे समान कब गायब हो गये इसकी सूधी किसी ने न ली. यहां तक कि वायरिंग और टंकी भी गायब है.

gate
भले ही जिसे इस भवन की जिम्मेवारी सौंपी गयी वह नज़र न आया लेकिन यहां हर दिन जानवरों का अड्डा जरूर जमता है. भवन के अंदर कागजी काम भले न होते हों दीवारों पर गोयठा जरूर सजता है.

goytha

ऐसे में आज लाखों की लागत से बना यह भवन सिर्फ औैर सिर्फ खंडहर बन कर जर्जर स्थिती में खड़ा है. दिलचस्प बात यह है कि सूबे में पंचायत चुनाव दो बार हुआ. लेकिन इस भवन का इस्तेमाल नही हुआ. पंचायत प्रतिनिधि निर्वाचित हुए. बावजूद पंचायत सचिवालय भवन भूत बंगला बना रहा.

क्या कहते है ग्रामीणः

पथरघटिया के ग्रामीण अब्दुल वहाब कहतेे हैं कि पथरघटिया पंचायत सचिवालय पहला पंचायत चुनाव से पहले ही बनकर तैयार हो गया था. लेकिन आजतक भवन का उपयोग ही नहीं किया गया.
फखरूद्दीन अंसारी ने कहा कि साल 2009 में 22 लाख की लागत से बना पंचायत सचिवालय भवन खंडहर बन कर रह गया है. यदि भवन बनने के साथ  ही यहां पंचायत का काम होता, बैठक होती तो यह दुर्दशा नहीं होती.
मोहम्मद सफारूददीन ने कहा कि नया व बड़ा पंचायत सचिवालय भवन होने के बाद भी इस्तेमाल नही होना प्रखंड प्रशासन की लापरवाही को प्रमाणित करता है. इसकी मरम्मत होनी जरूरी है.
हैदर अंसारी कहते हैं कि नया पंचायत सचिवालय बनकर भी फायदा नहीं हुआ. सारे काम पुराना व संकीर्ण पंचायत भवन में होता है. ऐसे में लोगो को परेशानी होती है.

क्या कहते है पंचायत सचिवः
पंचायत सचिव धीरेन यादव ने कहा कि 2011 में योगदान के समय से ही यह भवन जस का तस है. भवन उपयोग के लायक नहीं होने के कारण पुराना भवन में किसी तरह काम चलाया जा रहा है. जल्द इसकी मरम्मत कर यहां शिफ्ट होने की संभावना है.

क्या कहती है मुखियाः
मुखिया जमीला बीबी ने कहा कि पंचायत सचिवालय बने एक लंबा अरसा हो गया लेकिन इसका उपयोग नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि खंडहर बने इस भवन की मरम्मत कर इसका उपयोग जल्द किया जाएगा.

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!