spot_img
spot_img

दो माह इस गांव में नहीं आते कोई रिश्तेदार

 


देवघर/सारठ: 

सरकार के कृशि मंत्री रंधीर सिंह के विधानसभा क्षेत्र में ऐसी सड़के है जिस पर ग्रामीण धान रोप कर विरोध जताने को मरबूर है. प्रखंड क्षेत्र के आराजोरी पंचायत के खखड़ा गांव के ग्रामीण किचड़मय सड़क के कारण जिल्लत भरी जिन्दगी जीने को मजबूर है. ग्रामीणों ने किचड़मय सड़क पर धान रोप कर विरोध प्रदर्षन किया. खखड़ा,तीवारीडीह व महदेवा गांव के लगभग 500 की आबादी वाले इन गांवो तक जाने वाली कच्ची सड़क काफी जर्जर हो गया है. सड़क कि स्थिति ऐसी है कि उस पर वाहन चलना तो दूर लोग पैदल भी नहीं चल पाते है. स्कूल जाने वाले बच्चें को प्रतिदिन किचड़ से हो कर गुजरना पड़ता है. महारजगंज स्कूल से खखड़ा तक लगभग ड़ेढ किमी सड़क पर सिर्फ किचड़ व दलदल है. चिकनी मिटट्ी होने के कारण प्रतिदिन पैदल जाने वाले लोग फिसल कर भी गिर पड़ते है.

बिमार व गर्भवती महिलाओं को परेषानीः 
सड़क कि स्थिति यह है कि अगर कोई बिमार व्यक्ति या गर्भवति महिला को प्रसव के दौरान कहीं बाहर ले जाना पड़े  तो डोली या खाट पर बैठा कर सड़क तक लाना पड़ता है.

नहीं आते कोई संबंधीः 
इन गांवों में बरसात के समय तीन-चार माह तक कोई संबंधी गांव आने का हिम्मत नहीं करते है. ग्रामीणों के अनुसार जर्जर सड़क के कारण गांव में कोई नये संबंध जोडना नहीं चाहते है.

ग्रामीणों ने कई बार कृशि मंत्री रंधीर सिंह को भी समस्या से आवगत कराया है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. 
जबकि सरकार सड़क ग्रामीण सड़क को मुख्य सड़क से जोड़ने के लिये पानी की तरह पैसा बहा रही है.

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!