Global Statistics

All countries
176,417,357
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
158,669,108
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
3,810,763
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am

Global Statistics

All countries
176,417,357
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
158,669,108
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
All countries
3,810,763
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 10:25:22 am IST 10:25 am
spot_imgspot_img

पगडंडी के सहारे किसानों से मिलने पहुंचे देवघर डीसी


देवघर/देवीपुरः

देवघर में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला के सफल संचालन की व्यस्तता के बीच देवघर के डीसी राहुल कुमार सिंहा ग्रामीण विकास कार्यों को भी प्राथमिकता में रखे हुए हैं.

अभी धान रोपनी का समय है. ऐसे में देवघर जिले में शत-प्रतिशत खेती के लक्ष्य को पूरा करना जिला प्रशासन के लिए भी चुनौती है. जिसको लेकर देवघर डीसी देवीपुर प्रखंड पहुंचे. यहां न सिर्फ डीसी ने पैक्स अध्यक्ष व कृषक मित्रों के साथ बैठक की बल्कि प्रखंड के झुमरबाद, राजपुरा व महुआटांड में हो रहे धान रोपनी की जानकारी भी खुद स्थल निरीक्षण कर ली. 
प्रधानमंत्री फसल बीमा को लेकर डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने देवीपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित प्लस टु विद्यालय में पैक्स अध्यक्ष व कृषक मित्रों के साथ बैठक की. बैठक में डीसी ने पैक्स अध्यक्षों व कृषक मित्रों को केन्द्र सरकार के महत्वाकांक्षाी योजना फसल बीमा योजना के लक्ष्य को पूरा करने का निर्देश दिया.
डीसी ने कहा कि जरूरत है किसानों को फसल बीमा के बारे में समझाने की. प्रधानमंत्री फसल बीमा में निजी क्षतिपूर्ति का भी प्रावधान किया गया है. जिसकी जानकारी ज़्यादातर किसानों को नहीं होती है. 
वहीं बैठक में प्रखंड क्षेत्र में हो रही धान रोपनी की स्थिती की भी जानकारी डीसी ने ली. बैठक के बाद डीसी खुद प्रखंड स्थित झुमरबाद, राजपुरा व महुआटांड में हो रहे खेती कार्यों का जायजा लेने पगडंडी के सहारे खेत पर पहुंचें. यहां न सिर्फ उन्होंने किसानों से बातचीत की बल्कि आवश्यक सलाह भी दिये. 
डीसी ने कहा कि अबतक पूरे तरीके से धान रोपनी हो जानी चाहिए थी. बारिश लगातार हो रही है, मौसम अच्छा है ऐसे में 10 अगस्त तक पूरे जिले में 100 प्रतिशत धान रोपनी का लक्ष्य रखा गया है. किसानों को खेती को लेकर आवश्यक सलाह दी गयी है. ताकि फसल ज़्यादा से ज़्यादा उपज हो. पारंपरिक खेती को छोड़ श्री विधि से खेती करने का सलाह दिया गया है. साथ ही पदाधिकारियों को भी आवश्यक निर्देश दिये गये हैं. 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles