spot_img
spot_img

तो यही हैं वो जो ट्रेन पर आपके पलक झपकते ही कर देते हैं गंदा काम


देवघरः

जब भी ट्रेन में सफर करते हैं.. खुद से ज़्यादा किसी और का ख़्याल रहता है. गेट पर जायें या टाॅयलेट रूम में, लौट कर सबसे पहले नज़र उसी को देखती है. यहां बात हो रही है आपकी मेहनत की कमायी से खरीदी गयी आपके सामान की. 

आये दिन ट्रेनों से सामान गायब होने की खबर मिलती है. लोग कहते हैं कि हल्की सी आंख लगी और चोर उड़ा ले गये ट्राॅली, कोई कहता है ट्रेन की गेट पर था तभी पिछे से निकाल लिया पर्स.. कोई कहता है टाॅयलेट गया था वापस लौटा तो गायब था सामान.. 
यानि ट्रेन पर आपके चढ़ते ही कोई रहता है जो आप पर नज़र रखता है. उसे इंतज़ार होता है आपके पलक झपकने का. आपके सोने का. आपके किसी और बात में उलझने का या आपके अपने सीट से दूर जाने का. 

ऐसे ही अपने कारनामों को अंजाम देने वाले गिरोह का भंडाफोड़ जसीडीह और मधुपुर में हुआ है. ये गिरोह जो काफी शातिर हैं. लेकिन इन्हें मालूम नहीं कि इनपर नज़र रखने वाली पुलिस बेकार नहीं बैठी है. 

श्रावणी मेला में लाखों की संख्या में कांवरिया यात्री जसीडीह स्टेशन से रेलयात्रा करते हैं. ऐसे में ट्रेनों से चोरी कर अपना धंधा चलाने वालों का गिरोह भी इस एरिया में काफी सक्रिय हो जाता है. इस बात की इल्म रखने वाले रेलवे अधिकारी भी सतर्क हो जाते हैं. इस बार श्रावणी मेला को लेकर इस तरह के गिरोह पर नज़र रखने के लिए काफी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गयी है. 
इसी कड़ी में अपने कारनामें को अंजाम देने की सोच लिये पांच शातिरों को जसीडीह और मधुपुर रेलवे स्टेशन से हिरासत में लिया गया. 
जसडीह रेलवे स्टेशन से तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में जीआरपी को सफलता मिली. अब कैसे करते हैं यह सामानों की चोरी.. जरा समझिये..

जसीडीह रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार हुए तीन आरोपी.. राजकुमार सिंह, पोषपेन्दर सिंह और अजीत सिंह.. तीनों आरोपी शनिवार की रात जसीडीह से झाझा ट्रेन से निकलते हैं. फिर दूसरी ट्रेन से झाझा से जसीडीह स्टेशन पहुंचते हैं. यहां से दूसरी ट्रेन से मधुपुर के लिए निकलते हैं. फिर मधुपुर से जसीडीह आते हैं.. ऐसे में ना तो इन पर कोई शक कर पाता है और यह खुद अपने काम को अंजाम दे चुके होते हैं. लेकिन, बार-बार इन तीनों का जसीडीह रेलवे स्टेशन पर उतरना और दूसरी ट्रेन पर चढ़ना ही इनके लिए भारी पड़ गया. 
जसीडीह रेलवे स्टेशन पर बार-बार तीनों आरोपियों को जब स्टेशन पर तैनात पुलिस ने देखा तो उन्हें शक हुआ. शक के आधार पर तीनों को पकड़ा गया. पहले तो तीनों ने इंकार किया लेकिन जीआरपी के कड़े होते ही तीनों ने अपने-अपने गुनाह कबुल लिये. 
तीनों आरोपियों ने बताया कि वह विभिन्न ट्रेनों पर चढ़ यात्रियों के सामान, पर्स, मोबाईल इत्यादि की चोरी करते हैं. जीआरपी तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई कर रही है. 
वहीं, मधुपुर स्टेशन से भी दो आरोपी गिरफ्तार किये गये हैं. पटना-बिलासपुर ट्रेन से गंगाराम पासवान और राजीव कुमार को जीआरपी ने पकड़ा. दोनों के पास से एक ट्राॅली बैग भी बरामद किया गया है. ट्राॅली बैग उड़िसा के एक यात्री का है. जिसमें कागजात, जेवरात और किमती साड़िया मौजूद हैं. 
पांचों आरोपी से पुलिस पुछताछ कर आगे की कार्रवाई कर रही है. 
धनबाद डीएसआरपी विनोद कुमार महतो ने बताया कि श्रावणी मेला के मद्देनज़र ऐसे लोगों पर नज़र रखने के लिए जीआरपी सतर्क है. 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!