spot_img

Shravani Mela 2022: Deoghar DC ने बाबा मन्दिर प्रांगण में पंडा धर्मरक्षणी व पुरोहितों के साथ की बैठक

DEOGHAR: बाबा मंदिर प्रांगण स्थित प्रशासनिक भवन के प्रथम तल्ला पर उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में आगामी श्रावणी मेला के सफल संचालन को लेकर पंडा धर्मरक्षणी सभा के अध्यक्ष, महामंत्री, उपाध्यक्ष, सभी सदस्य, तीर्थ-पुरोहित समाज के प्रतिनिधियों एवं पंडा समाज के सभी सम्मानित सदस्यों के साथ एक बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान बाबा मंदिर प्रभारी सह अनुमंडल पदाधिकारी अभिजीत सिन्हा ने सभी का स्वागत किया।

इसके अलावे बैठक के दौरान पंडा धर्मरक्षणी सभा के अध्यक्ष सुरेश भारद्वाज, महामंत्री कार्तिक नाथ ठाकुर, उपाध्यक्ष, मंदिर समन्वय समिति के सदस्य एवं पंडा समाज के प्रबुद्ध वर्ग ने अपनी-अपनी बातों के साथ श्रद्धालुओं की बेहतर सुविधा को लेकर अपनी बातों को उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत किया। इस दौरान उपायुक्त ने आगामी श्रावणी मेला, 2022 हेतु की जा रही तैयारियों पर चर्चा करते हुए पंडा समाज के सभी प्रतिनिधियों से श्रावणी मेला के सफल संचालन को लेकर उनके सहयोग और विचारो से अवगत हुए। आगे उपायुक्त ने कहा कि जनसहयोग से हीं मेला को सफल बनाया जा सकता है। साथ हीं उनके द्वारा सभी अधिकारियों एवं पंडा समाज के प्रतिनिधियों से मेला के सफल संचालन में सहयोग करने की बात कही गई।

मेला के दौरान दुरुस्त रहेगी बिजली व साफ-सफाई की व्यवस्था

बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने उपस्थित सभी प्रबुद्ध जनों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण की वजह से दो साल बाद श्रावणी मेला का आयोजन हो रहा है। ऐसे में मेले में आने वाले सभी श्रद्धालुओं को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैया कराने हेतु हम सभी को मिलकर पूरे तत्परता के साथ कार्य करने की आवश्यकता है। बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा पंडा समाज के सुझावों पर चर्चा करते हुए कहा कि सभी के सुझावों पर आवश्यक अमल करते हुए मंदिर व उसके आस-पास के जगहों एवं सड़कों की मरम्मतिकरण, ड्रेनेज सिस्टम, सौंदर्यीकरण, पेयजल, बिजली व्यवस्था को दुरूस्त कर लिया जाएगा। साथ हीं मंदिर के आस-पास साफ 24×7 मोड में सफाई की व्यवस्था एवं कचड़े का उठाव किया जायेगा।

मंदिर प्रांगण को थर्मोकोल मुक्त बनाने की कोशिश

आगे उपायुक्त ने सभी को आश्वस्त किया कि मेले के दौरान बिजली व पेयजल की आपूर्ति शहर के साथ साथ मंदिर के आस-पास के क्षेत्रो में भी सही तरीके से होगी। मंदिर के आस-पास पार्किगं की समस्या पर उपायुक्त ने बताया कि बड़े वाहनो का मंदिर की ओर आना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा एवं छोटे वाहनो के लिए जल्द हीं कुछ ठोस व्यवस्था कर ली जाएगी। इसके अलावे उपायुक्त ने मंदिर प्रांगण को थर्मोकोल मुक्त बनाने में सहयोग करने हेतु सभी का आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने थर्मोकोल की जगह पत्तों के बने दोना-पत्तल की तरह प्लास्टिक मुक्त मंदिर प्रांगण के साथ-साथ मंदिर व आसपास के क्षेत्रों में मिट्टी के बर्तन और प्लास्टिक, पेपर कप की जगह मिट्टी के कुल्लहर का उपयोग को बढ़ावा देने में सहयोग करे ताकि आस्था के साथ स्थानीय लोगों को पत्तल के दोना प्लेट की तरह एक बेहतर बाजार मील सके।

शीघ्रदर्शनम काउन्टर की संख्या में वृद्धि करने पर सहमति

इसके अलावे बैठक के दौरान आम सहमति के बाद शीघ्रदर्शनम काउन्टर की संख्या में वृद्धि करने पर सहमति बनी। बैठक के दौरान सरदार पंडा ने कहा कि श्रद्धालुओं को हर सम्भव सुविधा देने के उद्देश्य से सभी को मिलजुलकर कार्य करने की आवश्यकता है, ताकि श्रद्धालु सुलभ जलार्पण कर सके।

आगे बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र जाट ने राजकीय श्रावणी मेला के दौरान सभी के सुझावों पर आवश्यक सहयोग के अलावा मेला क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर की जा रही विभिन्न जानकारियों से सभी को अवगत कराया। आगे उप विकास आयुक्त डॉ कुमार ताराचंद, नगर आयुक्त शैलेन्द्र कुमार लाल ने श्रावणी मेला के दौरान की जा रही विभिन्न सुविधाओं व व्यवस्थाओं से सभी को अवगत कराया।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!